होम प्रेरक पंजाब की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी बनीं IAS विनी महाजन, हर काम...

पंजाब की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी बनीं IAS विनी महाजन, हर काम में रहीं हैं चैंपियन

0
124
IAS-Vini-Mahajan
(Image Courtesy: Google)

नई दिल्ली. पंजाब में काम कर रहीं IAS विनी महाजन (IAS Vini Mahajan) अब राज्य की चीफ सेक्रेटरी (Chief Secretary of Punjab) बन गई हैं. विनी महाजन पंजाब की पहली महिला चीफ सेक्रेटरी भी हैं. इससे पहले कभी कोई महिला इस पद पर तैनात नहीं हुई है.

विनी महाजन (IAS Vini Mahajan) ने चीफ सेक्रेटरी करण अवतार सिंह की जगह ली है. विनी महाजन के पति दिनकर गुप्ता इस समय पंजाब के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) हैं.

कौन हैं विनी महाजन

1987 बैच की आईएएस अधिकारी (IAS Vini Mahajan) फिलहाल इंडस्ट्रीज ऐंड कॉमर्स, इन्फॉर्मेशन टेक्नॉलजी, गवर्नेंस रिफॉर्म्स ऐंड पब्लिक ग्रीवांस और इन्वेस्टमेंट प्रमोशन डिपार्टमेंट में अडिशनल चीफ सेक्रेटरी के पद पर तैनात थीं. चीफ सेक्रेटरी के अलावा उन्हें पर्सनल ऐंड विजिलेंस डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी का भी पद दिया गया है.

कॉलेज से ही चैंपियन रही हैं विनी महाजन

विनी महाजन आईआईएम कोलकाता की स्टूडेंट रही हैं और उन्होंने वहां से मैनेजमेंट में पीजी डिप्लोमा किया है. इससे पहले उन्होंने दिल्ली यूनिवर्सिटी के लेडी श्रीराम कॉलेज से इकनॉमिक्स में ग्रैजुएशन किया. आईएएस अकैडमी में को-करीकुलर ऐक्टिविटीज में शानदार परफॉर्मेंस के लिए वह गोल्ड मेडल भी हासल कर चुकी हैं. इसके अलावा आईआईएम में भी उन्हें रोल ऑफ ऑनर से नवाजा गया. कुल मिलाकर विनी महाजन कॉलेज के दिनों से ही पढ़ाई में चैंपियन रही हैं.

इकॉनमी और मैनेजमेंट की पढ़ाई कर चुकीं विनी महाजन की बदौलत पंजाब में हर साल लगभग 20 हजार करोड़ का निवेश आ रहा है. विनी महाजन के बूते ही पंजाब ने साल 2019 में दावोस में हुए वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम में हिस्सा लिया. बाद में एमएसएमई सेक्टर पर फोकस करते हुए पंजाब में शानदार इन्वेस्टर समिट भी आयोजित कराया.

विनी महाजन के पति हैं डीजीपी दिनकर गुप्ता

विनी महाजन और उनके पति दिनकर गुप्ता, दोनों ही 1987 बैच के अधिकारी हैं. दिनकर गुप्ता पुलिस विभाग में डीजीपी हैं और अब विनी महाजन चीफ सेक्रेटरी बन गई हैं. इस प्रकार इस कपल पर पंजाब सरकार की दो अहम जिम्मेदारियां हैं.

अभी तक चीफ सेक्रेटरी के पद पर तैनात रहे 1984 बैच के आईएएस अधिकारी करण अवतार सिंह को गवर्नेंस रिफॉर्म्स ऐंड पब्लिक ग्रीवांस विभाग का स्पेशल चीफ सेक्रेटरी बनाया गया है. सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस सरकार के मंत्रियों और विधायकों को करण अवतार सिंह काफी समय से खटक रहे थे इसलिए उन्होंने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से उन्हें हटाने की मांग की थी.