नवीनतम लेख

Rohit Sardana का पुराना वीडियो वायरल, पियानो बजाते देख भावुक हुए फैंस

नई दिल्ली. टीवी के जाने माने पत्रकार और देश के टॉप न्यूज एंकरों में शामिल रोहित सरदाना (Rohit Sardana) 30 अप्रैल को इस दुनिया को अलविदा कह गए थे. कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण वह अस्पताल में भर्ती थे और हार्ट फेल के कारण उन्हें बचाया नहीं जा सका. इस बीच सोशल मीडिया पर उनका एक वीडियो सामने आया है, जो तेजी से वायरल हो रहा है.

ये भी पढ़ें: Pranab Mukharjee की किताब में दावा: आज नेपाल होता भारत का हिस्सा, लेकिन नेहरू ने ठुकराया था प्रस्ताव

यह वीडियो उनके ही ट्विटर हैंडल से शेयर किया गया है, जिसमें रोहित पियानो बाजते दिख रहे है.  इस ट्वीट में लिखा है, गीत तेरे साज़ का.

पत्रकारिता में बड़ा नाम थे Rohit Sardana

गौरतलब है कि रोहित सरदाना (Rohit Sardana) साल 2017 में जी न्यूज का साथ छोड़ने के बाद आजतक संग जुड़े थे. वह आजतक पर डिबेट शो ‘दंगल’ की मेजबानी करते थे. उन्हें साल 2018 में गणेश विद्यार्थी पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है. वह टीवी न्यूज जर्नलिज्म के चर्चित चेहरों में से एक थे.

ये भी पढ़ें: असल जिंदगी में काफी स्टाइलिश हैं तारक मेहता की अंजलि भाभी से लेकर बबीता जी तक सभी महिला कलाकार

रोहित सरदाना का वीडियो देख भावुक हुए फैंस

वहीं वीडियो सामने आने के बाद सोशल मीडिया पर यूजर्स भावुक हो गए. यूजर्स ने उनके वीडियो को ट्वीट को रिट्वीट करते हुए अपनी प्रतिक्रिया दे रहे है. एक यूजर ने रोहित को याद करते हुए लिखा, Miss you bhaiya.. हमने तो आज तक ही देखना छोड़ दिया अब राष्ट्रवादी वाली कोई बात दिखती ही नहीं इसमें.

Pranab Mukharjee की किताब में दावा: आज नेपाल होता भारत का हिस्सा, लेकिन नेहरू ने ठुकराया था प्रस्ताव

Pranab Mukharjee Book. भारत का पड़ोसी और शांत रहने वाला देश नेपाल आज भारत के एक राज्य के तौर पर हिस्सा होता, लेकिन देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) ने नेपाल के राजा की मांग को ठुकरा दिया था. यह दावा किसी और ने नहीं, बल्कि देश के पूर्व दिवंगत राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukharjee) ने अपनी किताब The Presidential Years में किया है. ये भी पढ़े : असल जिंदगी में काफी स्टाइलिश हैं तारक मेहता की अंजलि भाभी से लेकर बबीता जी तक सभी महिला कलाकार

Pranab Mukharjee की किताब में दावा

दरअसल, पिछले शनिवार को इस किताब में किए गए दावे को ट्वीट करते हुए वरिष्ठ पत्रकार अनंत विजय ने लिखा है कि नेपाल के राजा त्रिभुवन बीर बिक्रम सिंह ने नेहरू को प्रस्ताव दिया था कि नेपाल को भारत में शामिल कर लिया जाए. हालांकि इस प्रस्ताव को नेहरू (Jawahar Lal Nehru) ने यह कहकर ठुकरा दिया कि, नेपाल एक राष्ट्र के रूप में ही ठीक है. अनंत विजय ने अपने ट्वीट में लिखा है कि नेपाल के राजा त्रिभुवन बीर बिक्रम सिंह ने नेहरू को प्रस्ताव दिया था कि नेपाल को भारत में शामिल कर लिया जाए. उन्होंने आगे लिखा है कि जवाहर लाल नेहरू (Jawahar Lal Nehru) ने ये कहकर प्रस्ताव को ठुकरा दिया था कि नेपाल एक स्वतंत्र राष्ट्र है और उसको स्वतंत्र राष्ट्र ही बने रहना चाहिए- प्रणब मुखर्जी (Pranab Mukharjee). इस ट्वीट के जवाब में लोग अपनी प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं. एक यूजर ने लिखा कि नेहरू (Jawahar Lal Nehru) की गलत नीतिओ की लंबी सूची है जिसके वजह से सक्षम हिंदुस्तान कमजोर होता गया. अच्छा है आज के वक्त देश की बाग डोर मोदीजी और बीजेपी के हाथों में है. अगर कांग्रेस होती तो केदारनाथ त्रासदी की तरह लोगो की लाशों पे अपना फायदा करने में लिप्त होती.

Billionaire Barber : मिलिये भारत के करोड़पति नाई से, जो बाल काटने भी Rolls Royce या Mercedes से जाता है

Billionaire Barber : भारत में एक से बढ़कर एक धनवान और अमीर लोग हैं, लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि जिस नाई से दुकान में आप अपने बाल कटवा रहे हैं, वो एक करोड़पति हो सकता है? अगर आपका जवाब नहीं है, तो जरा इन जनाब से मिल लीजिए, ये हैं कर्नाटक के बेंगलेरू शहर के रहने वाले रमेश बाबू। रमेश बाबू (Billionaire Barber) रोज सुबह उठते हैं और अपने काम पर जाने के लिए तैयार होते हैं। हर दिन वह कोट पेंट पहनकर, अच्छा सेंट लगाकर घर से अपनी Rolls Royce या Mercedes कार ड्राइव करते हुए अपने हेयर सैलून जाते हैं। यहां पहुंचने के बाद वह लोगों के बाल भी काटते हैं। रमेश बाबू कोई साधारण नाई नहीं, बल्कि वे देश के करोड़पति नाई (Billionaire Barber) हैं। रमेश बाबू के पास आज करोड़ों की संपत्ती है और 350 से ज्यादा कारें हैं, जिनमें से करोड़ों की कीमत रखने वाली रोल्स रोयस समेत 120 लग्जरी कारें हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इतने अमीर होने के बाद भी वो अपने हेयर सलून में खुद ही बाल काटते हैं।

कभी पाई-पाई के मोहताज थे रमेश बाबू

आज जो रमेश बाबू (Billionaire Barber) करो़ड़ों में खेल रहे हैं, कभी उन्होंने पाई-पाई के लिए तरसना भी पड़ा था। उनका बचपन गरीबी में गुजरा। उन्होंने अपनी शुरुआत लोगों के घरों में अखबार पहुंचाने से की थी। उनके पिता बंगलुरु के चेन्नास्वामी स्टेडियम के पास अपनी नाई की दुकान चलाते थे। पिता के जाने के बाद रमेश बाबू (Billionaire Barber) की मां ने लोगों के घरों में खाना बनाने का काम किया, ताकि बच्चों का पेट पाला जा सके। उन्होंने अपने पति की दुकान को महज 5 रुपए महीना पर किराए पर दे दिया था। जब रमेश बाबू बड़े हुए तो उन्होंने टूर एंड ट्रेवल्स का बिजनेस कर पैसा कमाया और अपने पिता की दुकान को वापिस लेकर उसे मॉडर्न स्टाईल में रिनोवेट किया।

पीएम नरेंद्र मोदी जैसा झूठा मैंने कभी नहीं देखा, इनकों सिर्फ मैं ही जवाब दे सकती हूं: ममता बनर्जी

सिलीगुड़ी। पश्चिम बंगाल में चार चरणों का मतदान खत्म हो चुका है। लेकिन यहां ममता बनर्जी (Mamata vs Modi) और पीएम मोदी के बीच जुबानी जंग जारी है। ममता ने एक बार फिर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन्हे झूठा प्रधानमंत्री बताया है। ममता बनर्जी ने कहा कि वह एकमात्र ऐसी महिला हैं, जो उनके झूठ का जवाब विधानसभा चुनावों में जीत हासिल कर दे सकती हैं।

पीएम मोदी को बताया झूठा

शनिवार को चौथे चरण का मतदान समाप्त होने के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए सीएम ममता बनर्जी (Mamata vs Modi) ने कहा कि मैंने इस तरह के झूठे प्रधानमंत्री को कभी नहीं देखा। इतनी बड़ी घटना के बाद भी, जब वह सिलीगुड़ी में दो-तीन रैलियों में गए थे तो झूठ बोल रहे थे। मैं पूछना चाहती हूं कि वह घटनास्थल पर क्यों नहीं गए। इस चुनाव में मोदी को वो हर लाभ मिल रहा है, जो हमें नहीं मिल पा रहा है। वो केंद्रीय शक्तियों का गलत फायदा उठा रहे हैं। ममता बनर्जी (Mamata vs Modi) ने आगे कहा कि मैं ही यहां एकमात्र महिला हूं और मैं लड़ाई लड़ रही हूं… संघर्ष कर रही हूं। पीएम मोदी जानते हैं कि केवल मैं ही उन्हें चुनाव में हराकर जवाब दे सकती हूं।

बंगाल को गुमराह कर रही बीजेपी

बीजेपी पर पश्चिम बंगाल के लोगों को गुमराह करने के आरोप लगाते हुए ममता (Mamata vs Modi) ने कहा जैसे ही भाजपा ने गुजरात में लोगों को प्रताड़ित किया था, अगर लोगों को वो याद है, लोगों का उनके प्रति घृणा है, तो ये और भी ज्यादा बढ़ेगा और लोग एक साथ आ जाएंगे और तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) को वोट देंगे। ये भी पढ़ें: Most Expensive Helmet: 3 करोड़ रुपए में मिल रहा दुनिया का सबसे महंगा हेलमेट टीएमसी प्रमुख ने कहा कि मैं एक शांतिपूर्ण चुनाव चाहती हूं और मैं नियमित रूप से लोगों से इसके लिए अपील कर रही हूं। वे इसकी अनुमति क्यों नहीं दे रहे हैं? ममता (Mamata vs Modi) ने प्रतिद्वंद्वी पार्टी पर राज्य में बंदूक और गुंडे लाने का आरोप लगाया है। ममता बनर्जी ने कहा कि भारत एक लोकतांत्रिक देश है, यह पाकिस्तान की तरह तानाशाही नहीं है। हम चाहते हैं कि लोकतंत्र का संचालन अच्छे तरीके से हो। चुनाव आयोग को उचित तरीके से चुनाव कराना चाहिए।  

Rajasthan ACB: दरवाजे पर खड़ी थी एसीबी की टीम, घूसखोर तहसीलदार ने चूल्हे में जला दिए 15 लाख के नोट

जयपुर. भारत में तमाम कोशिशों के बाद घूसखोरी के मामले कम नहीं हो रहे. राजस्थान में एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जहां एसीबी (Rajasthan ACB) की टीम छापा मारने पहुंची तो एक तहसीलदार ने घर के चूल्हे पर ही 15 लाख के नोट जला दिए. दरअसल, पूरा मामला सिरोही जिले के पिंडवाड़ा तहसील का है. यहां भू अभिलेख निरीक्षक परबत सिंह को एसीबी की टीम ने एक लाख रुपए की घूस लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया था.

एसीबी (Rajasthan ACB) से पूछताछ में परबत सिंह ने बताया कि यह रिश्वत पिंडवाड़ा तहसीलदार कल्पेश जैन के लिए मांगी गई थी. इसके बाद स्थानीय पुलिस के साथ ACB की टीम कल्पेश जैन के घर पहुंची. एसीबी की पूरी टीम तहसीलदार के घर के बाहर खड़ी थी, लेकिन पुलिस अधिकारियों को देख तहसीलदार ने खुद को कमरे में बंद कर लिया.

चाय बनाने के बहाने जला डाले नोट

इसी बीच तहसीलदार ने दस्तावेजों और रिश्वत में मिले नोटों को चूल्हे पर रख कर आग लगा दी. कमरे से धुंआं उठता देख जब ACB की टीम ने उससे इसके बारे में पूछा तो उसने कहा कि चाय बन रही है. एसीबी (Rajasthan ACB) की टीम तहसीलदार को रुकने के लिए कहती रही, लेकिन तहसीलदार चूल्हे पर चाय बनने का बहाना कर नोट जलाता रहा. आखिरकार कमरे का दरवाजा तोड़ ACB की टीम अंदर घुसी और तहसीलदार को गिरफ्तार कर लिया.

ये भी पढ़ें: 3 करोड़ रुपए में मिल रहा दुनिया का सबसे महंगा हेलमेट

एसीबी (Rajasthan ACB) के मुताबिक तहसीलदार कल्पेश जैन ने 15 लाख रुपये से अधिक की नकदी जला दी. ACB के हाथ अधजले नोट और काफी दस्तावेज लगे हैं. ACB की टीम ने आंवले की छाल का ठेका दिलाने की एवज में मांगी गई एक लाख रुपये की रिश्वत के आरोप में घूसखोर तहसीलदार कल्पेश जैन को हिरासत में ले लिया. घर से डेढ़ लाख रुपये की नकदी बरामद हुई है. इतना ही नहीं कई प्लॉटों के कागजात, 8 बैंक के खाते, तीन पोस्ट ऑफिस के खाते और कई बैंक लॉकर की भी जानकारी एसीबी को मिली है. फिलहाल एसीबी की टीम ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

Most Expensive Helmet: 3 करोड़ रुपए में मिल रहा दुनिया का सबसे महंगा हेलमेट

Most Expensive Helmet: अगर आप भी बाइक या स्कूटर चलाते हैं तो आप भी हेलमेट का इस्तेमाल करते होंगे. आमतौर पर एक नॉर्मल हेलमेट की कीमत 500 रुपए से शुरू होती है. ज्यादा से ज्यादा महंगा भी लेंगे, तो 50 हजार के हेलमेट (Most Expensive Helmet) बाजार में मौजूद हैं. लेकिन, आज हम आपको बता रहे हैं, दुनिया के सबसे महंगे हेलमेट के बारे में जिसकी कीमत करीब 3 करोड़ है.

दरअसल, अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने इस हेलमेट को तैयार किया है. फाइटर जेट बनाने वाली कंपनी लॉकहीड मार्टिन का यह हेलमेट (Most Expensive Helmet) F-35 विमान के पायलट के लिए तैयार किया गया है. यह अब तक का सबसे आधुनिक और सबसे महंगा हेलमेट है, इसी वजह से इसकी कीमत 3 करोड़ रुपए है.

सुपरकार की कीमत के बराबर सिर्फ हेलमेट

एक सुपरकार की कीमत में मिलने वाले इस हेलमेट (Most Expensive Helmet) के बारे में जब अमेरिकी वायुसेना के चीफ ऑफ स्‍टाफ जनरल से पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि फाइटर जेट उड़ाने वाले पायलट के लिए ये सिर्फ एक हेलमेट नहीं होता है, बल्कि उसका पूरा वर्कस्पेस है. ये किसी भी वॉर जोन की परिकल्‍पना की तरह है जो पायलट को हर स्थिति के प्रति जागरूक रखने का काम करते हैं.

इन शानदार फीचर्स से है लैस

F-35 के इस हेलमेट (Most Expensive Helmet) में माउंटेड डिस्‍प्‍ले सिस्‍टम है, जिसकी वजह से पायलट को हर स्थिति की जानकारी मिलती रहती है. उन्‍हें अपने मिशन को पूरा करने के लिए हर जरूरी जानकारी उनका हेलमेट देता है. यह हेलमेट एयरस्‍पीड, जेट की ऊंचाई, टारगेट की इनफॉर्मेशन से लेकर हर तरह की वॉर्निंग भी इसी हेल्मेट के डिस्प्ले पर शो करता है.

ये भी पढ़ें: आपकी इन 3 गलतियों के कारण घटता है बाइक का माइलेज, अपनाएं ये टिप्स

क्यों हैं इतना महंगा

जिस तरह बाइक या स्कूटर चलाते समय हेलमेट (Most Expensive Helmet) हमारे सिर को बचाता है, ठीक वैसे ही जेट हेलमेट भी पायलट के सिर की सुरक्षा करता है. दरअसल, जेट्स के मनूवर और अचानक टर्न से एयर प्रेशर और जी फोर्स की वजह से सिर पर भयानक चोट का खतरा बना रहता है. यह हेलमेट इससे पायलट को बचाता है. इसके अलावा जेट काफी आवाज करता है. लेकिन इस हेलमेट की वजह से पायलट पर जेट और बाहर के शोर नहीं सुनाई देता. इसके अलावा इस हेलमेट में माइक और हेडफोन जैसे फीचर्स भी होते हैं जो पायलट को डायरेक्ट बेस से कनेक्ट करके रखते हैं.

सन वाइजर और नाइट विजन जैसे फीचर

इन हेलमेट (Most Expensive Helmet) में ऑक्‍सीजन सप्‍लाई की भी पूरी व्‍यवस्‍था रहती है. वहीं कुछ हेलमेट तो ऐसे होते हैं जो सन वाइजर (Sun Visor) से लैस होते हैं, जिससे पायलट को सनग्‍लासेस की जरूरत नहीं पड़ती. इस समय जो हेलमेट आ रहे हैं वो माउंटेड डिस्‍प्‍ले, नाइट विजन सपोर्ट और इस तरह की कई टेक्निक से लैस हैं. ये हेलमेट इस तरह से डिजाइन किए गए हैं कि पायलट किसी भी डायरेक्‍शन में आसानी से देख सकता है.

महिला दिवस 2021: बुलंद हौसलों को सलाम, एसिड अटैक पीड़ित महिलाओं का हुआ सम्मान

लखनऊ, 8 मार्च। महिला दिवस (Womens Day 2021) के अवसर पर स्वयंसेवी संगठन किरण फाउंडेशन (Kiran Foundation) और लखनऊ पुस्तक मेला समिति (Lucknow Pustak Mela Samiti) द्वारा शीरोज हैंगआउट गोमतीनगर लखनऊ का संचालन कर रही ऐसिड अटैक से प्रभावित महिलाओं को वहां जाकर सम्मानित किया गया।

IMG 20210308 WA0179 पुस्तक मेला के निदेशक अकर्ष चंदेल व किरण फाउंडेशन के सह संस्थापक विशाल श्रीवास्तव ने और शीरोज हैंगआउट के नितिन व असमां परवीन ने अन्य गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिअत में उन्हें स्मृति चिन्ह प्रदान किया। कार्यकत्रियों ने प्रसन्नता व्यक्त की।

मिशन शक्ति की विभिन्न योजनाओं का शुभारंभ

इसके अलावा प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर मिशन शक्ति अभियान में विभिन्न योजनाओं के शुभारंभ और शिलान्यास और विभिन्न क्षेत्रों में अग्रणी महिलाओं के सम्मान कार्यक्रम में हिस्सा लिया।

महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और स्वालम्बन के लिए देशभर में विशेष कार्यक्रम

दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली में महिलाओं को विशेष सम्मान देते हुए आज दिल्ली पुलिस की कमान महिला कर्मियों के सौंपी है। पुलिस स्टेशन, ट्रैफिक व्यवस्था, पीसीआर वैन सभी काम महिला अधिकारी और कर्मी संभाल रही हैं। मुंबई: ठाणे के विवियाना मॉल में एक्‍स्‍ट्राऑर्डि ‘नारी’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें एसिड अटैक की सर्वाइवल पीड़िता रैंप पर उतरीं। जयपुर: राजस्थान की राजधानी जयपुर के एक अस्पताल में राजस्थान पुलिस और सीआरपीएफ की महिलाकर्मियों के साथ-साथ उनके परिवार की महिला सदस्यों के लिए ब्रेस्ट और सर्विकल कैंसर जांच शिविर लगाया गया। वहीं CM गहलोत ने महिलाओं को दिया मुफ्त यात्रा का तोहफा दिया है। भोपाल: अंतर्राष्‍ट्रीय महिला दिवस के मौके पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में महिला सफाई कर्मचारियों से बात की और उनके साथ झाड़ू भी लगाई। नोएडा: नोएडा प्राधिकरण के जन स्वास्थ्य विभाग की ओर से नोएडा स्टेडियम में आज सुबह पिंक मैराथन का आयोजन किया गया। वहीं नोएडा के दो पिंक मेट्रो स्टेशनों पर पेटिंग प्रतियोगिता आयोजित की गई। अहमदाबाद: महिला दिवस को देखते हुए अहमदाबाद रेलवे स्टेश को पिंक कलर की रोशनी में रंग दिया गया है। स्टेशन की तस्वीरें रेलवे मंत्री ने शेयर की है। गुरुग्राम: जिला अदालत में महिला अधिवक्ताओं ने एक कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें महिला अधिवक्ताओं ने भाग लिया और समाज में बेहतर कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया।

PM Modi take Covid Vaccine: पीएम मोदी ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, विपक्ष के सवालों पर लगाया विराम

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi take Covid Vaccine) ने सोमवार की सुबह दिल्ली के एम्स अस्पताल में जाकर कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक लगवा ली है। पीएम मोदी वैक्सीन लगवाने के साथ ही विपक्ष और मेड इन इंडिया वैक्सीन (Made in India Vaccine) पर सवाल उठाने वालों के मुंह पर ताला भी जड़ दिया है।

बता दें कि भारत बायोटेक की बनाई ‘कोवैक्सिन’ का शॉट आज पीएम मोदी (PM Modi take Covid Vaccine) को एम्स अस्पताल में दिया गया। इसी मेड इन इंडिया वैक्सीन (Made in India Vaccine) पर विपक्ष के कई नेता और कई स्वास्थ्यकर्मी सवाल उठा चुके हैं।

ट्विटर पर दी जानकारी

सोमवार की सुबह नौ बजे से देशभर में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा फेज शुरू हो गया है। पीएम मोदी सुबह-सुबह वैक्सीन (PM Modi take Covid Vaccine) लगवाने पहुंचे। वैक्सीनेशन के बाद पीएम मोदी ने ट्वीट किया कि एम्स में कोविड-19 वैक्सीन की पहली डोज ली। हमारे डॉक्टरों और वैज्ञानिकों ने कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को कम समय में मजबूत बनाने के लिए उल्लेखनीय काम किया है। मैं उन सबसे अपील करता हूं कि जो लोग कोरोना टीका लगाने के लिए योग्य हैं वे वैक्सीन लें। आइए, साथ मिलकर भारत को कोविड-19 मुक्त बनाएं।

कांग्रेस ने कहा था पीएम मोदी लगवाएं वैक्सीन

बता दें कि भारत में जब कोरोना वैक्सीनेशन का पहला चरण शुरू हुआ था, तब कांग्रेस के कई नेताओं ने कोवैक्सिन की विश्वसनीयता पर सवाल उठाए थे। कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने तो यहां तक कहा था कि वैक्सीन के प्रति भरोसा पैदा करने के लिए सबसे पहले पीएम मोदी को टीका लगवाना (PM Modi take Covid Vaccine) चाहिए। हालांकि, उस वक्त स्पष्ट कर दिया गया था कि पीएम मोदी अपनी बारी आने पर ही टीका लगवाएंगे।

थरूर ने भी उठाए थे सवाल

कोवैक्सीन के आपातकालीन इस्तेमाल की मंजूरी दिए जाने के बाद कांग्रेस नेता शशि थरूर ने भी सवाल उठाए थे। थरूर ने कहा था कि कोवैक्सीन का अभी तक तीसरे चरण का ट्रायल नहीं हुआ है, बिना सोच-समझे अनुमति दी गई है जो कि ख़तरनाक हो सकती है

अखिलेश ने बताया था बीजेपी की वैक्सीन

दूसरी तरफ, समाजवादी पार्टी प्रमुख और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा था कि मैं बीजेपी की कोरोना वैक्सीन को नहीं लगवाऊंगा। मुझे इनकी वैक्सीन पर भरोसा नहीं है। अखिलेश यादव ने भारत सरकार की कोरोना वैक्सीन को बीजेपी का वैक्सीन करार दिया था। ये भी पढ़ें: Two Wheeler Mileage Problem: आपकी इन 3 गलतियों के कारण घटता है बाइक का माइलेज, अपनाएं ये टिप्स

डॉक्टरों ने भी जाहिर की थी आशंका

भारत बायोटेक की कोवैक्सिन को लेकर दिल्ली के आरएमएल अस्पताल के डॉक्टरों ने भी आशंका जाहिर की थी। अस्पताल के डॉक्टरों ने एक पत्र मेडिकल सुपरिटेंडेंट को लिखा था। कोवैक्सिन को जब इस्तेमाल की मंजूरी मिली थी तब तक इसके तीनों चरण का ट्रायल पूरा नहीं हुआ था। डॉक्टरों ने कोविशील्ड वैक्सीन लगवाने की मांग की थी। हालांकि, सरकार ने हमेशा यह कहा है कि कोवैक्सिन सुरक्षित है और इसके कोई खास साइड इफेक्ट्स नहीं है। वहीं आज वैक्सीनेशन के दूसरे चरण की शुरुआत होते ही पीएम मोदी ने कोरोना वैक्सीन लगवाकर (PM Modi take Covid Vaccine) सबके मुंह पर ताला जड़ दिया है।  

Two Wheeler Mileage Problem: आपकी इन 3 गलतियों के कारण घटता है बाइक का माइलेज, अपनाएं ये टिप्स

Two Wheeler Mileage Problem: एक मिडिल क्लास आदमी के पास बाइक या स्कूटी कहीं भी आने-जाने का सबसे सस्ता और अच्छा साधन है। लोग बाइक खरीद तो लेते हैं, लेकिन समय पर मेंटेनेंस करना भूल जाते हैं। ऐसी ही छोटी-छोटी गलतियों और जानकारी की कमी के कारण अक्सर बाइक खराब हो जाती है। इन्हीं गलतियों का असर आपकी बाइक की माइलेज (Two Wheeler Mileage Problem) पर भी पड़ता है। बाइक के इंजन का रखरखाव करना सबसे ज्यादा जरूरी होती है।

इन वजहों से हो सकती है दिक्कत

इंजन को आप एक तरह से बाइक का दिल भी कह सकते हैं। अगर यह सही से चलेगा तो कोई दिक्कत नहीं होगी। आप इसका जितना ख्याल रखेंगे, वह उतनी ही ज्यादा माइलेज देगा। आम तौर पर बाइक में माइलेज (Two Wheeler Milage Problem) की समस्या एयर फिल्टर के खराब होने के कारण भी आती है। ये भी पढ़ें: किसान आंदोलन पर अक्षय कुमार ने किया ट्वीट, पंजाबी सिंगर जैजी बी ने बताया- नकली किंग दरअसल, फिल्टर खराब या गंदा होने के कारण साफ हवा इंजन तक नहीं जा पाती और ऐसे में इंजन को पॉवर जनरेट करने के लिए ज्यादा जोर लगाना पड़ता है। इसका सीधा असर आपके इंजन पर पड़ता है और बाइक की माइलेज घट जाती है।

Two Wheeler Mileage Problem: ये भी हो सकते हैं कारण

माइलेज कम (Two Wheeler Mileage Problem)  मिलने का दूसरा सबसे बड़ा कारण स्पार्क प्लग में खराबी भी हो सकती है। दरअसल, स्पार्क प्लग एक चिंगारी पैदा करता है, जो इंजन तक एनर्जी पहुंचाती है। इंजन के बार-बार ऑन ऑफ होने का असर भी माइलेज पर पड़ता है। बाइक में माइलेज की समस्या टायर प्रेशर की वजह से भी हो सकती है। इसके अलावा खराब इंजन ऑयल भी समस्या की जड़ हो सकता है। ऐसे में हम सलाह देते हैं कि आप अपनी गाड़ी का सही टायर प्रेशर मेंटेंन रखे। समय-समय पर ऑथराइज्ड वर्कशॉप से ही गाड़ी की सर्विस करवाएं और अच्छी कंपनी का ही इंजन ऑयल डलवाएं।

Kisan Mahapanchayat में राहुल की हुंकार, कहा-किसानों के सामने अंग्रेज नहीं टिके, मोदी कौन हैं?

नई दिल्ली। Kisan Mahapanchayat Rajasthan: देश की राजधानी दिल्ली में किसानों का आंदोलन 78 दिनों से जारी है। किसानों के इस आंदोलन को विपक्ष लगातार सरकार को घेर रहा है। इसी कड़ी में शुक्रवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी दो दिन के दौरे पर राजस्थान पहुंचे हैं। यहां हनुमानगढ़ के पीलीबंगा में किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) को राहुल ने संबोधित किया। राहुल ने इस दौरान पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा।

किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस की हमेशा कोशिश रही है कि खेती किसी एक हाथ में न जाए। लेकिन, नए कानून में इसका उलट किया जा रहा है। शाम को श्रीगंगानगर के पदमपुर में एक अन्य रैली को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री पर कटाक्ष करते हुए कहा कि देश के किसानों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो नरेंद्र मोदी कौन हैं।

आपका भविष्य और जमीन छीन रही सरकार

इससे पहले पीलीबंगा किसान महापंचायत (Kisan Mahapanchayat) में राहुल ने कहा कि मोदी जी कहते हैं कि हम किसानों के साथ बात करना चाहते हैं। आप क्या बात करना चाहते हैं? (कृषि) कानूनों को खत्म करें, किसान आपके साथ बात करेंगे। आप उनकी जमीन और भविष्य को छीन रहे हैं। ऐसे में आप उनसे बात करना चाहते हैं। पहले कानून वापस लें, फिर बात करें। किसान महापंचायत में (Kisan Mahapanchayat) किसानों से बात करते हुए पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि आपके लिए जो ये तीन कानून आए हैं, इनका लक्ष्य क्या है। मोदीजी इन्हें क्यों ला रहे हैं, इसे मैं आपको समझाऊंगा। कृषि दुनिया का सबसे बड़ा व्यापार है, क्योंकि इससे करोड़ों लोगों को भोजन मिलता है। भारत की 40 प्रतिशत जनता इस व्यापार को चलाती है। कांग्रेस की कोशिश रही है कि कृषि किसी एक के हाथ में न जाए। आजादी के बाद यही हमारा लक्ष्य रहा है कि इसमें 40 प्रतिशत लोगों की भागीदारी रहे। राहुल ने कहा कि मैं यहां आपको आश्वासन देने आया हूं कि इन कानूनों को बढ़ने नहीं देंगे। हम इन्हें रद्द करवाकर ही मानेंगे। तीन कानून क्या हैं? ये लोग कृषि के बिजनेस को किसान, खेतिहर से छीनना चाहते हैं। सरकार का लक्ष्य है कि 40 प्रतिशत लोगों का व्यापार 2-3 लोगों के हाथ में चला जाए। वे अपने उद्योगपति दोस्तों के लिए रास्ता बना रहे हैं।

दो हाथों में चला जाएगा 40 लाख करोड़ का कारोबार

शाम में श्रीगंगानगर के पदमपुर में किसान रैली (Kisan Rally) को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि जिस दिन नए कृषि कानून लागू होंगे, उस दिन से देश के 40 फीसदी लोगों का 40 लाख करोड़ रुपये का कारोबार सिर्फ दो लोगों के हाथों में चला जाएगा। इन कानूनों के खिलाफ आंदोलन सिर्फ किसानों का नहीं है। किसानों ने अंधकार में रोशनी दिखाई है। ये भी पढ़ें: Fakkad Baba: 60 साल से गुफा में रह रहे संत ने राम मंदिर के लिए दान किए 1 करोड़ रुपए, सभी हैरान पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष ने किसान आंदोलन को पूरे देश का आंदोलन बताते हुए कहा कि इसका दायरा अभी और बढ़ेगा। केंद्र सरकार द्वारा किसानों की कानून वापस लेने की मांग नहीं मानने की ओर इशारा करते हुए गांधी ने कहा कि यह शर्म की बात है। यह आंदोलन फैलेगा। यह आंदोलन किसानों से शहरों में फैलेगा। इसलिए मैं नरेंद्र मोदी से कह रहा हूं कि उन्हें किसानों की बात सुन लेनी चाहिए। अंत में करना ही पड़ेगा। हिंदुस्तान के किसान, मजदूरों के सामने अंग्रेज नहीं टिक पाए तो नरेंद्र मोदी कौन हैं। कानून तो वापस लेने ही पड़ेंगे। इसलिए कह रहा हूं कि आज ले लो ताकि देश आगे बढ़े … लेकिन जिद कर रहे हैं। बता दें कि इस पहले राहुल गांधी ने आज सुबह एक प्रेस कांफ्रेंस कर मोदी सरकार को चीन के मुद्दे पर भी घेरा था। उन्होंने मोदी सरकार पर भारत की जमीन चीन को देने का आरोप लगाया है।