हर दिन 45 हजार मजदूरों को खाना खिला रहे सोनू, बोले-इनके चेहरे की खुशी देख सारे दुख भूल जाता हूं

नई दिल्ली. लॉकडाउन के दौरान प्रवासी मजदूरों के चेहरे पर जो थोड़ी-बहुत मुस्कान दिख रही है, उसके पीछे कारण है अभिनेता सोनू सूद. एक तो काम बंद ऊपर से घर ना पहुंच पाने की मजबूरी, ऐसे में सोनू ने मदद का हाथ आगे बढ़ाया और अब तक हजारों प्रवासियों की मदद कर चुके हैं.

इन प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए सोनू सूद ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है.

खुुद कर रहे सारे इंतजाम

सोनू हर दिन 45 हजार लोगों को खाना खिला रहे हैं. इसके साथ ही साथ सोनू सूद बसों का इंतजाम कर प्रवासी मजदूरों को उनके घर के दरवाजे तक पहुंचा रहे हैं. अब तक 12 हजार प्रवासियों को सोनू सूद उनके घरों तक सकुशल पहुंचा चुके हैं.

गरीबों और प्रवासियों के लिए फरिश्ता बनकर आये अभिनेता सोनू सूद लगातार मुंबई में फंसे लोगों को अपने पैसों से बुक की गई बसों से घर पहुंचा रहे हैं. यही वजह है कि बड़े पर्दे पर विलेन का किरदार निभाने वाले सोनू सूद को रियल लाइफ हीरो कहा जा रहा है. बेबसी और लाचारी के जाल में फंसे इन प्रवासियों के चेहरे से सिर्फ सोनू के लिए दुआएं निकल रही हैं.

कई परिवारों ने माना भगवान

लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद ने इंसानियत की ऐसी मिसाल पेश की है, जिसने उन्हें कई परिवारों के लिए भगवान बना दिया है. सोशल मीडिया से लेकर केंद्र सरकार के मंत्री भी उनके इस नेक काम की तारीफ कर चुके हैं. सोनू और उनकी टीम हर दिन लगभग 18 घंटे से ज्यादा समय तक प्रवासियों और मजदूरों की सेवा में लगे हुए हैं.

इनके चेहरे पर ख़ुशी देखकर दिन बन जाता है

लॉकडाउन में लोगों की परेशानी देख अभिनेता सोनू सूद ने खुद ही ज्यादा से ज्यादा लोगों की मदद करने की ठानी. सोनू सूद के अलावा सलमान खान भी बॉलीवुड के ऐसे दूसरे सितारे हैं, जो रोज हजारों मजदूरों का पेट भर रहे हैं. पहले भी कई रिपोर्ट्स सामने आई कि, सोनू करीब 45 हजार लोगों को खाना खिला रहे हैं.

हाल ही में सोनू सूद ने जी न्यूज को दिए एक इंटरव्यू में बताया कि, वह अभी भी रोजाना 45 हजार लोगों को खाना खिला रहे हैं. वह कहते हैं कि, इनके चेहरे पर ख़ुशी देखकर मेरा दिन बन जाता है. इससे ज्यादा सुकून मुझे कभी नहीं मिला, जो इनकी मुस्कान से मिलता है.