कंगना रनौत से तकरीबन डेढ़ घंटे चली पूछताछ, वकील बोले- माफी मांगने का सवाल ही नहीं

नई दिल्ली: सिख समुदाय (Sikh Community) के खिलाफ आपत्तिजनक बयान देने के मामले में फिल्म एक्ट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) गुरुवार को मुंबई स्थित खार पुलिस स्टेशन पहुंचीं, जहां पुलिस ने उनसे तकरीबन डेढ़ पूछताछ की। इसके बाद कंगना पुलिस स्टेशन से निकल गईं।

दूसरी ओर इस मामले में शिकायतकर्ताओं का कहना है कि कंगना (Kangana Ranaut) माफी मांग लें तो उन्हें माफ कर दिया जाएगा और केस वापस ले लिया जाएगा। हालांकि कंगना के वकीलों का कहना है कि एफआईआर करके माफी मंगवाने की धमकी नहीं चलेगी। केस खत्म कराने के लिए हाईकोर्ट में मामला चल रहा है।

शिकायतकर्ता अमरजीत सिंह संधू ने कहा कि कंगना (Kangana Ranaut) ने सिख समुदाय की भावनाओं को आहत किया है। कृषि कानून की वापसी को लेकर सिखों को खालिस्तानी बताना और अन्य बातें कहना… ऐसी बातें कहने की क्या जरूरत है? क्यों ऊल जुलूल बातें करती हैं।

संधू ने कहा कि अगर कंगना माफी मांगती हैं तो हम उसे माफ कर देंगे और मामला खत्म हो जाएगा। कंगना को ये बात अच्छे से पता है कि हम वो समुदाय हैं, जो क्षमा करने और मौका देने में विश्वास करते हैं।

केस को खत्म कराने का मामला हाईकोर्ट में

दूसरी ओर कंगना रनौत के वकील रिजवान सिद्दीकी ने कहा कि इस वक्त कंगना का बयान दर्ज किया जा रहा है और वो अपना पक्ष रख रही हैं। माफी मांगने का सवाल ही पैदा नहीं होता है। ये कौन सा तरीका है, एफआईआर कराओ, डराओ और फिर माफी मंगवाकर बातचीत करके मामलाा सुलझाने की बात करो। सिद्दीकी ने कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं कहा है। केस को खत्म कराने का मामला हाईकोर्ट में पेंडिंग है, जिसकी सुनवाई जारी है।

दरअसल बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत को उस पोस्ट को लेकर उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के संबंध में पुलिस के समक्ष पेश होना था, जिसमें उन्होंने किसानों के आंदोलन को कथित रूप से एक अलगाववादी समूह से जोड़ा था। एक सिख संगठन की शिकायत के बाद पिछले महीने खार पुलिस थाने में रनौत के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

पुलिस ने इस महीने की शुरुआत में उन्हें पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया था। रनौत के वकील ने बॉम्बे उच्च न्यायालय को बताया था कि वह 22 दिसंबर को खार पुलिस के समक्ष पेश होंगी। बुधवार को उनके वकील ने पेश होने के लिए दूसरी तारीख दिये जाने का अनुरोध किया।