कंगना रनौत को झटका: बॉम्बे HC का आदेश- 22 दिसंबर से पहले मुंबई पुलिस के सामने पेश हों अभिनेत्री

नई दिल्ली: अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangna Ranaut) के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने उन्हें 22 दिसंबर से पहले मुंबई पुलिस के सामने पेश होने को कहा है। वहीं महाराष्ट्र सरकार कंगना के खिलाफ़ 25 जनवरी तक कोई दंडात्मक कार्रवाई नहीं करने की बात पर सहमत हो गई है।

दरअसल अभिनेत्री (Kangna Ranaut) ने सरकार की ओर से कृषि कानूनों (Farm Laws) को वापस लिए जाने के बाद सोशल मीडिया पर लिखा था कि, ‘खालिस्तानी आतंकवादियों ने भले ही आज सरकार की बांह मरोड़ दी हो लेकिन यह नहीं भूलना चाहिए कि एक महिला प्रधानमंत्री ने इन्हें कुचल दिया था. चाहे इसकी वजह से देश को कितना भी कष्ट क्यों न हुआ हो।’

इस बयान के बाद कंगना (Kangna Ranaut) के खिलाफ कई जगह प्राथमिकी दर्ज हुई थी। लोगों का कहना था कि कंगना नफरत की फैक्ट्री बन चुकी हैं। हम इंस्टाग्राम पर ऐसे नफरत भरे पोस्ट करने के लिए सरकार से सख्त कार्रवाई किए जाने की मांग करते हैं कंगना की सिक्योरिटी और पद्मश्री को तुरंत वापस लिया जाना चाहिए।

बॉलिवुड अभिनेत्री कंगना रनौत अपने विवादित बयानों की वजह से हमेशा चर्चा में रहती हैं। इससे पहले जब वह पंजाब में थीं तब कीरतपुर में प्रदर्शनकारी किसानों ने उनकी कार को रोक लिया। इन प्रदर्शनकारियों के हाथों में झंडे थे और ये नारेबाजी कर रहे थे। इन्होंने किसानों और कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग करने वालों के खिलाफ बयानबाजी के लिए कंगना से माफी की मांग की। तनाव बढ़ता देख मौके पर भारी पुलिस बल भी बुला लिया गया। काफी देर हंगामा होता रहा। करीब दो घंटे बाद आखिरकार कंगना ने माफी मांगी जिसके बाद किसानों ने उन्हें जाने दिया।

मानहानि मामला में भी कंगना की आफत

लेखक-गीतकार जावेद अख्तर ने सोमवार को यहां एक अदालत में एक याचिका दायर कर अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ आपराधिक मानहानि मामले में गैर-जमानती वारंट जारी करने का अनुरोध किया।

अख्तर के वकील जय भारद्वाज की ओर से दाखिल अर्जी में इस साल मार्च के बाद से रनौत द्वारा किसी न किसी वजह से छूट की मांग के अनुरोध का उल्लेख किया गया है। रनौत आखिरी बार 20 सितंबर को अंधेरी मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट आर आर खान के सामने पेश हुई थीं।

अर्जी में कहा गया है, ‘आरोपी के आचरण से यह स्पष्ट रूप से समझा जा सकता है कि इस अदालत (अंधेरी मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट अदालत) द्वारा प्रक्रिया जारी करने के समय से ही वह मामले में अत्यधिक देरी करने के लिए ने जानबूझ कर अनुपस्थिति के कारण पूरी तरह से कार्यवाही को पटरी से उतारने और शिकायतकर्ता के समक्ष बेहिसाब कठिनाईयां पैदा करने का प्रयास किया है।’

अदालत ने अर्जी पर कंगना वकील को सुनवाई की अगली तारीख चार जनवरी को अपना जवाब दाखिल करने का निर्देश दिया है। अदालत ने कंगना के वकील को अगली सुनवाई पर अभिनेत्री की उपस्थिति सुनिश्चित करने का भी निर्देश दिया।