TATA को टक्कर देने चली थी यह चीनी कंपनी, अब खुद की हो गई हालत खराब

इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) बनाने वाली चीन की कंपनी बीवाईडी (BYD) ने हाल ही में भारत में अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार लॉन्च की थी। भारत दुनिया का चौथा सबसे बड़ा कार मार्केट है और इलेक्ट्रिक कार बाजार में फिलहाल टाटा मोटर्स (Tata Motors) का दबदबा है।

माना जा रहा था कि चीन की कंपनी टाटा (Tata Motors) के दबदबे को चुनौती दे सकती है। लेकिन अमेरिका के दिग्गज निवेशक वॉरेन बफे (Warren Buffett) ने इस चीनी कंपनी (BYD) को तगड़ा झटका दिया है। बफे इस कंपनी में अगस्त से पांच बार अपनी हिस्सेदारी बेच चुके हैं। इससे पहले उन्होंने 14 साल तक इस कंपनी में अपने निवेश को बरकरार रखा था। अब बीवाईडी में उनकी हिस्सेदारी 15.99% रह गई है।

बफे की कंपनी बर्कशायर हैथवे (Berkshire Hathaway) ने पिछले हफ्ते बीवाईडी (BYD) के 32 लाख शेयर बेचे। चीन की यह ऑटो कंपनी हॉन्गकॉन्ग में लिस्टेड है। बर्कशायर हैथवे नवंबर में तीन बार इस चीनी कंपनी के शेयर बेच चुकी है। अगस्त में जब कंपनी ने पहली बार शेयर बेचे थे तो उसके पास 22.5 करोड़ शेयर थे। बफे की कंपनी ने 2008 में बीवाईडी के शेयर 1.02 डॉलर के भाव पर खरीदे थे और कुल 23 करोड़ डॉलर का निवेश किया था। तब ग्लोबल फाइनेंशियल क्राइसिस के कारण कंपनी के शेयर रेकॉर्ड लो पर पहुंच गए थे।

शेयरों में तेजी

उसके बाद से कंपनी के शेयरों में भारी तेजी आई है। 2020 में बीवाईडी के शेयरों में 437 फीसदी तेजी आई। यह कंपनी चीन में एलन मस्क (Elon Musk) की टेस्ला (Tesla) को पछाड़ककर बेस्ट सेलिंग ईवी ब्रांड बन गई है।

पिछले महीने कंपनी ने चीन में 103,157 इलेक्ट्रिक वीकल्स बेचे जबकि टेस्ला की बिक्री 71,704 यूनिट रही। जून में बीवाईडी का शेयर 42 डॉलर के रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था। यह 14 साल पहले की तुलना में 41 गुना अधिक है। यही वजह है बर्कशायर इस पर जमकर मुनाफावसूली कर रही है। पिछले चार महीने में वह बीवाईडी के 4.9 करोड़ शेयर बेच चुकी है।

बीवाईडी ने पिछले महीने भारत में अपनी Atto 3 electric SUV उतारी थी। कंपनी दुनिया के कई देशों में इलेक्ट्रिक कार और प्लग इन इलेक्ट्रिक हाइब्रिड्स बेच रही है। इनमें नॉर्वे, न्यूजीलैंड, सिंगापुर, ब्राजील, कोस्टारिका और कोलंबिया शामिल है। शेनजेन की इस ऑटो और बैटरी बनाने वाली कंपनी ने 2007 में भारत में एंट्री मारी थी। कंपनी का प्लांट चेन्नई के करीब है। शुरुआत में यह मोबाइल फोन के लिए बैटरी और कंपोनेंट्स बनाती थी।

भारत में सफर

साल 2013 में चीन की इस कंपनी ने भारत में लोकल पार्टनर्स के साथ मिलकर बसें बनाना शुरू किया और 2021 में कॉरपोरेट फ्लीट ऑपरेटर्स के लिए e6 EV लॉन्च की। भारत में कंपनी के प्लांट से सालाना 10,000 कारें असेंबल की जा सकती हैं। कंपनी इसी प्लांट में Atto 3 को असेंबल करेगी।

बीवाईडी ने इसी साल घोषणा की थी कि वह 2023 में जापान में पैसेंजर ईवी बेचना शुरू करेगी। साथ ही उसकी थाईलैंड में एक फैसिलिटी शुरू करने की भी योजना है ताकि 2024 से इसमें 150,000 कारों का उत्पादन किया जा सके। कंपनी की पहले ही अमेरिका, भारत और ब्राजील समेत दुनियाभर में 30 से अधिक फैसिलिटीज हैं।