Air India: दुनिया की नंबर वन एयरलाइंस बनेगी एयर इंडिया, रतन टाटा खरीदेंगे 500 विमान, डील फाइनल

टाटा ग्रुप (Tata Group) के पास जाने के बाद एयर इंडिया (Air India) में तेजी से बदलाव हो रहे हैं। कंपनी ने साथ ही 500 विमान लेने की भी योजना बनाई है। लेकिन एविएशन इंडस्ट्री के इतिहास की सबसे बड़ी डील खटाई में पड़ सकती है। इसकी वजह यह है कि इंजन बनाने वाली कंपनियां एयर इंडिया को कोई डिस्काउंट देने को तैयार नहीं है।

अमूमन मेगा ऑर्डर्स के साथ इंजन और मेंटनेंस पर छूट मिलती है। लेकिन यहां रिपेयर के लिए रेट पर मामला फंसा हुआ है। एयर इंडिया इसके लिए हर घंटे के हिसाब से जो रेट ऑफर कर रही है, इंजन बनाने वाली कंपनियां उसे मानने के लिए तैयार नहीं हैं।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। एयर इंडिया ने एयरबस (Airbus) और बोइंग (Boeing) से 500 विमान लेने की योजना बनाई है। इसे एविशयन के इतिहास के सबसे बड़े ऑर्डर्स में से एक माना जा रहा है।

 

बोइंग के लिए 737 मैक्स के लिए इंजन सप्लाई करने वाली कंपनी सीएफएम इंटरनेशनल (CFM International) किसी तरह का डिस्काउंट देने को तैयार नहीं है। यह जनरल इलेक्ट्रिक कंपनी और सैफरन एसए का जॉइंट वेंचर है।

सीएफएम इंटरनेशनल और उसकी प्रतिद्वंद्वी कंपनी Raytheon Technologies Corp की प्रैट एंड विटनी डिवीजन को बोइंग और एयरबस के नई पीढ़ी के विमानों से दिक्कत है। इन विमानों की बहुत जल्दी मरम्मत करनी पड़ रही है। इस वजह से उनके मार्जिन पर असर पड़ रहा है। एयर इंडिया पिछले 10 महीनों से 500 विमानों की खरीद के लिए बात कर रही है। माना जा रहा है इसी महीने इसकी घोषणा हो सकती है।

 

मौके का फायदा उठाने की तैयारी
इस बारे में सीएफएम के एक प्रतिनिधि ने टिप्पणी करने से इन्कार किया। बोइंग और एयरबस ने भी कोई जबाव नहीं दिया। बोइंग 737 विमानों पर सीएफएम का इंजन लगता है जबकि एयरबस के ए320 विमानों पर सीएफएम या प्रैट दोनों के इंजन लग सकते हैं।

जानकारों का कहना है कि एयर इंडिया मैनेजमेंट ने एयरबस के साथ डील पर काम पूरा कर लिया है लेकिन अभी इसे अंतिम रूप नहीं दिया गया है। महामारी के बाद एयरलाइन इंडस्ट्री में अच्छी रिकवरी हो रही है। एयर इंडिया इसका पूरा फायदा उठाना चाहती है। यही वजह है कि कंपनी बड़ी संख्या में विमान खरीद रही है।

 

एयरक्राफ्ट लीज पर देने वाली दुनिया की प्रमुख कंपनी एयरलीज कॉर्प के एग्जीक्यूटिव चेयरमैन Steven Udvar-Hazy ने हाल में कहा था कि उनके पास 500 विमानों का ऑर्डर भारत से आ रहा है। इनमें 400 नैरो बॉडी एयरक्राफ्ट्स हैं। इनमें एयरबस A320neos, A321neos और बोइंग 737 MAXs शामिल हैं। वहीं, 100 वाइड बॉडी एयरक्राफ्ट्स हैं। इनमें बोइंग 787s, 777X, कुछ 777 फ्रेटनर्स और एयरबस A350s शामिल हैं।