देश के प्रमुख उद्यमियों के साथ PM मोदी की बैठक, सभी सेक्टर में अव्वल होने के लिए कहा

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देश के प्रमुख कंपनियों के सीईओ से उन्हें साहसिक कदम उठाते हुए सभी सेक्टर में वैश्विक रूप से शीर्ष पांच में पहुंचने के लिए कहा।

दूसरी तरफ उद्यमियों ने भारत को मैन्यूफैक्चरिंग हब बनाने का भरोसा दिया और इसके लिए बैंकिंग व वित्तीय तरीके से उद्योग जगत की मदद का आग्रह किया। सोमवार को प्रधानमंत्री ने देश के प्रमुख कंपनियों के सीईओ से मुलाकात की। इनमें बैंकिंग, इन्फ्रास्ट्रक्चर, आटोमोबाइल, टेलीकाम, कंज्यूमर गुड्स, टेक्सटाइल, रिन्युएबल, टेक्नोलाजी, हेल्थकेयर व इलेक्ट्रानिक्स शामिल हैं।

बीते शुक्रवार को प्रधानमंत्री ने प्रमुख वैश्विक निवेशकों से मुलाकात की थी और उन्हें भारत में निवेश के लिए प्रोत्साहित किया था। आगामी वित्त वर्ष 2022-23 के बजट से पहले प्रधानमंत्री खुद देश के उद्यमियों व निवेशकों से मुलाकात कर रहे हैं। पिछले साल भी प्रधानमंत्री ने इस प्रकार की बैठकें की थी।

भारतीय कंपनियों को हासिल करना चाहिए एक नंबर स्थान

सोमवार को प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद कोटक महिंद्रा बैंक के सीईओ उदय कोटक ने बताया कि हमें लगता है कि अब समय आ गया है कि उद्यमी भयमुक्त होकर काम करेंगे और प्रधानमंत्री ने जो सपना देखा है उसे पूरा करने में बैंकिंग व वित्त क्षेत्र अपना सहयोग देगा।

टीसीएस के एमडी व सीईओ राजेश गोपीनाथन ने बताया कि प्रधानमंत्री ने उन्हें रिसर्च व इनोवेशन में आगे बढ़ने के साथ सभी सेक्टर में शीर्ष पांच में पहुंचने के लिए कहा। उनके अनुसार प्रधानमंत्री ने कहा कि संभव हो तो भारतीय कंपनियों को नंबर सर्वोच्च स्थान हासिल करना चाहिए।

सरकार की नीति की वजह से विदेशी कंपनियां करना चाहती हैं निवेश

लगभग दो घंटे तक चली इस बैठक के बाद मारुति सुजुकी के सीईओ व एमडी केनिची आयुकावा ने बताया कि उद्यमी प्रधानमंत्री के विजन के अनुरूप काम करने को पूरी तरह से तत्पर है और भारत को मैन्यूफैक्चरिंग हब बनाने के साथ निर्यात को भी बढ़ाने के लिए कदम उठाएंगे। सरकार की नीति की वजह से विदेशी कंपनियां यहां निवेश करना चाहती हैं।

ट्रैक्टर एंड फार्म इक्विपमेंट्स लिमिटेड की सीएमडी मलिका श्रीनिवासन ने बताया कि प्रधानमंत्री ने सभी प्रमुख उद्यमियों के सुझावों को ध्यान से सुना और उन्होंने उद्यमियों के समक्ष अपने सुझाव भी रखे। उनके सुझावों में देश को प्रगति के पथ पर दूर तक ले जाने की कोशिशों की झलक मिलती है। वहीं, रिन्युपावर के चेयरमैन व एमडी सुमंत सिन्हा ने बताया कि प्रधानमंत्री ने भारत में उपलब्ध अवसरों को भुनाने के लिए साहसिक कदम उठाने के लिए कहा।