चीनी मोबाइल कंपनियों पर मोदी सरकार का शिकंजा, दिल्ली समेत देशभर में इनकम टैक्स की छापेमारी

नई दिल्ली। भारत में टैक्स चोरी के मामले पर मोदी सरकार ने चीनी मोबाइल कंपनियों पर शिकंजा कस दिया है। दिल्ली-एनसीआर समेत देशभर के कई शहरों में इनकम टैक्स (Income Tax Raid) के अधिकारियों ने इन चीनी कंपनियों के ठिकानों पर छापेमारी की है। बताया जा रहा है कि दिल्ली-एनसीआर के अलावा मुंबई, गुडगांव जैसे शहरों में भी छापेमारी की खबर है।

टैक्स चोरी का आरोप

बताया जा रहा है कि ओप्पो, वीवो और वन प्लस समेत कई चाइनीज कंपनियां चीन से बिजनेस वीजा पर लोगों को अपनी कंपनियों में काम करने के लिये बुलाती थी। फिर कुछ महीने काम करवा कर वापिस भेज दिया करती थीं। इस तरह से ये कंपनियां वीजा नियमों का तो उल्लघंन करती थीं। इसके साथ ये कंपनियां टैक्स चोरी (Income Tax Raid) भी किया करती थी।

ये भी पढ़ें : ऐश्वर्या से पूछताछ पर फूटा जया का गुस्सा- मैं श्राप देती हूं.. BJP के बुरे दिन आने वाले हैं

बिजनेस वीजा पर लोगों को बुलाती थीं कंपनियां

यदि कोई कंपनी एम्पलॉयमेंट वीजा पर चीन से किसी कर्मचारी को भारत बुलाती है तो कंपनी को भारत को टैक्स (Income Tax Raid) देना होता है। इसके अलावा सरकारी नियमों के अनुरूप बाकी बेनिफिट भी देने होते, जिसे ये कंपनिया बचा लेती थीं। ये कंपनियां बैलेंस शीट में घाटा दिखाती थीं। इसके अलावा भारत में कंपनी खोलने के समय जिस तरह से भारत के लोगों को रोजगार का वादा किया गया था उसमें भी धांधली की बात सामने आ रही है।

इन कंपनियों पर पड़ा Income Tax Raid

जिन चीनी मोबाइल कंपनियों पर छापा पड़ा है, उसमें मशहूर कंपनी ओप्पो मोबाइल भी शामिल है। इससे पहले अगस्त में, चीनी सरकार द्वारा नियंत्रित ZTE कंपनी के खिलाफ सर्च ऑपरेशन चलाया गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत सरकार पहले ही ओप्पो और वीवो जैसे स्मार्टफोन निर्माताओं को वितरण के लिए चीनी साझेदारों के साथ काम रोकने के लिए दबाव बना रही है।