Molnupiravir: भारत में इस हफ्ते लॉन्च हो सकती है कोविड की सबसे सस्ती दवा, 35 रुपये गोली है दाम

नई दिल्ली: मैनकाइंड फार्मा (Mankind Pharma) इस सप्ताह सबसे सस्ती 35 रुपये प्रति कैप्सूल की कोविड -19 एंटीवायरल दवा मोलनुपिरवीर (covid-19 antiviral drug molnupiravir) लॉन्च करने के लिए पूरी तरह तैयार है। यह जानकारी कंपनी के चेयरमैन ने दी।

अंग्रेजी वेबसाइट द इकॉनमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार मैनकाइंड फार्मा के चेयरमैन आरसी जुनेजा (RC Juneja, chairman of Mankind Pharma) ने बताया कि मोलुलाइफ ( Molulife ) के पूरे इलाज पर 1,400 रुपये खर्च होने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि इस सप्ताह बाजार में ब्रांड के आने की उम्मीद है। एक मरीज के लिए मोलनुपिरवीर पांच दिन तक हर दिन में दो बार 800 मिलीग्राम रेकमेंड की गई है। ऐसे में एक मरीज को 200 मिलीग्राम खुराक के तौर पर 40 कैप्सूल लेने की जरूरत है। ओरल पिल की मैन्यूफैक्चरिंग 13 भारतीय दवा कंपनियों द्वारा किया जाएगा जिनमें टोरेंट, सिप्ला , सन फार्मा ,डॉ रेड्डीज, नैटको , माइलान और हेटेरो शामिल हा।

बता दें मैनकाइंड फार्मा देश में कोविड-19 की दवा मोलुलाइफ (मॉलनुपिरेविर) की पेशकश के लिए बीडीआर फार्मास्युटिकल्स के साथ साझेदारी की है। बीते दिनों कंपनी ने एक बयान में कहा था कि इस साझेदारी के तहत बीडीआर फार्मा द्वारा उत्पादन किया जाएगा, जबकि विपणन, बिक्री, प्रचार, वितरण मैनकाइंड फार्मा करेगी।

डीसीजीआई ने देश में आपात उपयोग की मंजूरी दी

मैनकाइंड फार्मा के वरिष्ठ अध्यक्ष (बिक्री और विपणन) संजय कौल ने कहा था कि कंपनी कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई को मजबूत करने के लिए हरसंभव कदम उठाएगी और इस क्रम में मोलुलाइफ को हर जगह उपलब्ध कराया जाएगा। भारतीय दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने कोविड-19 के इलाज में उपयोगी एंटीवायरल दवा मॉलनुपिरेविर के देश में आपात उपयोग की मंजूरी दी थी।

बता दें मोलनुपिरवीर की सुरक्षा का आकलन करने के लिए 1,000 मरीजों पर इसका ट्रायल किया जाएगा। भारत के ड्रग रेगुलेटर की तरफ से जारी दवा के निर्माण और मार्केटिंग की अनुमति वाले पत्र में कहा गया कि तीन महीने के अंदर क्लीनिकल ट्रायल की अपडेट डिटेल देनी होगी।

इसमें एक शर्त यह भी है कि, पोस्ट मार्केटिंग सर्विलांस के रूप में, कंपनियों को ड्रग रेगुलटर के सामने समय-समय पर सेफ्टी अपडेट रिपोर्ट पेश करनी होगी। इसके अलावा कंपनियों को स्थिरता पर भी स्टडी जारी रखने के लिए कहा गया है।