5G सर्विस 1 अक्टूबर को होगी लॉन्च, PM मोदी करेंगे शुरुआत, सेकेंड्स में डाउनलोड होंगे Video

by सचिन गौतम

अगर आप 5जी का इंतजार कर रहे हैं तो आपके लिए खुशखबरी है। देश में 5G सेवाएं (5G services) 1 अक्टूबर से शुरू होने वाली हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra modi) 1 अक्टूबर को इंडिया मोबाइल कांग्रेस (Indian Mobile Congress) में 5G सेवाएं (5G services) लॉन्च करेंगे।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra modi) भारत में एशिया के सबसे बड़े टेक्नोलॉजी प्रदर्शनी इंडिया मोबाइल कांग्रेस में 5G सेवाओं (5G services) की शुरुआत करेंगे। इंडिया मोबाइल कांग्रेस का आयोजन दिल्ली के प्रगति मैदान में किया जाएगा।

इंडिया मोबाइल कांग्रेस (Indian Mobile Congress) को एशिया में सबसे बड़ा टेलीकॉम, मीडिया और टेक्नोलॉजी फोरम माना जाता है। इसे संयुक्त तौर पर डिपार्टमेंट ऑफ टेलीकॉम्युनिकेशंस (DoT) और सेल्युलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (COAI) आयोजित करते हैं।

5जी (5G services) की स्पीड 4जी से 10 गुना ज्यादा तेज होगी। इसमें बड़े से बड़ा वीडियो भी कुछ ही सेकेंड्स में डाउनलोड हो जाएगा। इसकी स्पीड का अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि जहां एक फिल्म को डाउनलोड करने में 4जी नेटवर्क पर जहां छह मिनट लगते हैं, वहीं 5जी नेटवर्क पर यह काम 20 सेकंड में हो जाएगा।

5G से होंगे ये फायदे

अभी तक देश में लोग 4जी का इस्तेमाल कर रहे हैं। अब 5जी (5G services) आने के बाद लोगों को हाई स्पीड इंटरनेट की सुविधा मिलने लगेगी। इससे न केवल लोगों का समय बचेगा वहीं नए दौर के कई एप्लीकेशन को भी आसानी से इस्तेमाल किया जा सकेगा।

5जी की मदद से ग्राहकों का अनुभव पहले से कही ज्यादा बेहतर रहेगा साथ ही अब ट्रांजेक्शन से लेकर फाइल को डाउनलोड या अपलोड करने में भी न के बराबर वक्त लगेगा। पांचवीं पीढ़ी यानी 5जी (5G services) दूरसंचार सेवाओं के जरिए कुछ ही सेकेंड्स में मोबाइल और दूसरे उपकरणों पर हाई क्वालिटी वाले लंबी अवधि के वीडियो या फिल्म को डाउनलोड किया जा सकता है। यह एक वर्ग किलोमीटर में करीब एक लाख संचार उपकरणों को समर्थन करेगा।

4जी से होगा 10 गुना ज्यादा तेज

माना जा रहा है कि 5जी के आने के बाद मोबाइल टेलिफोन की दुनिया पूरी तरह बदल जाएगी। 5जी की स्पीड 4जी से 10 गुना ज्यादा है। 5जी आने के बाद ऑटोमेशन बढ़ जाएगा। अभी तक जो चीजें बड़े शहरों तक सीमित है वे गांव-गांव तक पहुंचेंगी।

इंटरनेट ऑफ थिंग्स और औद्योगिक आईओटी और रोबोटिक्स की तकनीक को नए पंख लगेंगे। इससे देश की इकॉनमी को फायदा होगा और ई-गवर्नेंस का विस्तार होगा। इससे कारोबार, शिक्षा, हेल्थ और एग्रीकल्चर जैसे सेक्टर्स में क्रांति आ सकती है। 4जी नेटवर्क पर जहां औसतन इंटरनेट स्पीड 45एमबीपीएस होती है लेकिन 5जी नेटवर्क पर यह बढ़कर 1000 एमबीपीएस तक पहुंच जाएगी।

Ⓒ 2022 Copyright and all Right reserved for Newzbulletin.in